ICCPL: REAL ESTATE KI RAJDHANI

भारत देश की अचल संपत्ति और बुनियादी सुविधाओं की शोध आधारित खबरे, निति और अन्य जानकारिया

135 Posts

0 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 22497 postid : 1056730

एनसीआर के रियल्टी सेक्टर में आने वाला है पोसेशन का मानसून

Posted On: 25 Aug, 2015 बिज़नेस कोच में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

पुरे देश में बरसात का मौसम जाने वाला है पर एनसीआर के रियल एस्टेट सेक्टर में राहत देने वाली बरसात दरवाज़े पर दस्तक देने पर है, जो की आने वाले कुछ सालो में इस सेक्टर की दिशा को बदलने की क्षमता रखता है | आने वाले 6 से 9 महीने के भीतर डेवलपर्स पोसेशन के रूप में मकानों की बारिश करने वाले हैं जो की लम्बे समय से अपने सपनों के घर का इंतज़ार कर रहे खरीददारों को राहत देगा | पिछले कुछ समय में सरकार के लिए हुए अहम फैसलों ने इस सेक्टर में नई उम्मीद जगाई है, जो न सिर्फ खरीददारों को पोसेशन देगी बल्कि नई मांग में इज़ाफा भी करेगी | ग्रेटर नोएडा का फैसला, एनजीटी का नोएडा में ओखला बर्ड सेंचुरी विवाद पर फैसला, एनएच-24 का चौड़ीकरण और आने वाले त्यौहार एनसीआर में मकानों के पोसेशन की बारिश करेंगे साथ ही साथ नई मांग का मौसम भी शुरू कर देंगे |
एक सूखे का अंत:
2010 से ग्रेटर नोएडा का रियल एस्टेट बाज़ार बहुत दबाव में था जिसका पूरा बोझ रियल एस्टेट सेक्टर पर आता था | पिछले कुछ सालो में मांग में काफी गिरावट आई जिस कारण निर्माण काफी बार अटका और साथ ही सार्वजनिक अशांति देखने को मिली | कुछ महीने पहले आये फैसले ने सब कुछ साफ़ कर दिया है जो की अब बिल्डर और खरीददार दोनों के लिए मददगार साबित होगा | लम्बे समय से फैसले के अटके होने के कारण निर्माण में देरी हुई जो की सीधा कारण था पोसेशन में विलम्ब होने का जिससे की 1.5 लाख से ज्यादा खरीददारों को परेशानी का सामना करना पड़ा | दूसरी तरफ निर्देशों के अनुसार समय पर पोसेशन देना भी अनिवार्य है | सर्वोच्च्य न्यायलय का फैसला जनहित और विकास पर केन्द्रित था जो की सीधे तौर पर क्षेत्र को विकास की और ले जायेगा | यह फैसला न केवल वर्तमान ग्राहकों के लिए लाभदायक होगा बल्कि ग्रेटर नोएडा वेस्ट जैसे उभरते हुए क्षेत्र की मांग पर भी भरी असर डालेगा | “फैसला आने के बाद से हमने डेटाबेस तैयार किया है जो की इस क्षेत्र के बिल्डरों के आदानों पर आधारित है, कुछ बिल्डर पोसेशन देने को तैयार है और इस साल के अंत तक अंदाज़न 50,000 फ्लैट्स उनके मालिको को दे दिए जायेंगे | विकास की एक तेज़ लहर इस क्षेत्र में दौड़ने वाली है और सरकार यहाँ की बुनियादी सुविधाओं पर भी विशेष ध्यान दे रही है | अगले साल तक अंदाज़न 1 लाख लोगो की इस क्षेत्र में रहने आने की उम्मीद है |” यह कहना है श्री दीपक कपूर, अध्यक्ष क्रेडाई पश्चिम ऊ.प्र. और निदेशक गुलशन होम्ज़ का | क्षेत्र के काफी डेवलपर्स अपनी पूरी हो चुकी और पूरी होने वाली परियोजनाओं के पोसेशन आने वाले कुछ महीनो में देने वाले है | उदाहरण के तौर पर आरजी ग्रुप अपनी रेसिडेंशियल परियोजना ‘आरजी रेसीडेंसी’ के फेज-1 का पोसेशन इस वित्तीय वर्ष के अंत तक देगा | फेज-1 में दो टावर (ऐ और बी) होंगे जिसमें 200-200 इकाईयां होगी |
नोएडा में आया नया दौर:
कुछ दिनों पहले नोएडा को नया जीवन मिला जब पर्यावरण मंत्रालय ने अधिसूचना ड्राफ्ट जारी किया जो की ओखला बर्ड सेंचुरी के उत्तर तरफ 1.27 किलोमीटर और पश्चिम, पूर्व और दक्षिण तरफ 100 मीटर की दुरी पर निर्माण किया जा सकेगा | इस फैसले का मतलब है की लगभग 50 परियोजना के 60,000 फ्लैटो के खरीददारों को इन्साफ मिला | रुकी हुई परियोजना के बिल्डरों को प्राधिकरण समापन प्रमाण पत्र जारी कर दे तो नोएडा में भी मकानों के पोसेशन की बारिश होगी | एनजीटी विवाद के कारण इस क्षेत्र में बहुत सारे बिल्डर जैसे जेपी ग्रुप, आम्रपाली ग्रुप, सुपरटेक, डीएलएफ, अजनारा इंडिया लिमिटेड, गुलशन होम्ज़, जेएम हाऊसिंग, आरजी ग्रुप प्रतिकूल रूप से प्रभावित हुए थे | आरजी ग्रुप की परियोजना ‘आरजी रेसीडेंसी’ जो की नोएडा के सेक्टर 120 में स्थित है, समापन प्रमाण पत्र न मिलने के कारण यहाँ के खरीददारों को भी काफी मुसीबत का सामना करना पड़ा | श्री अमन गुप्ता, कार्यकारी निदेशक, आरजी ग्रुप का कहना है की “एनजीटी का नोटिस हमारे और हमारे खरीददारों के लिए बड़ी राहत की खबर है | सालों से इस फैसले के रुके होने के कारण हम काफी बार विवादों में फंसे और ग्राहकों की शिकायते बढ़ती गयी क्योंकि हमारा फेज-1 का निर्माण लगभग पूरा होने पर था और हमने काफी समय पहले इसका पोसेशन भी दे दिया होता पर एनजीटी का फैसला रुके होने के कारण हम भी अटक गये थे | अब चुकी एनजीटी का फैसला आ गया है तो हम भी पूरी ताकत के साथ वापस आये है और बचा हुआ कम पूरा कर के 1-2 महीने के अन्दर ग्राहकों को पोसेशन दे देंगे | इसी विषय पर विचार जोड़ते हुए श्री अशोक गुप्ता, सीएमडी, अजनारा ग्रुप का कहना है की “नोएडा के रियल एस्टेट सेक्टर की हालत सुधरने का समय अब आ गया है | लम्बे समय से यह क्षेत्र अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पा रहा था, कीमत स्थिर हो गयी थी और मांग गिरने लगी थी | आने वाले महीनों में नोएडा के अन्दर कतार से पोसेशन होने है जो की रियल एस्टेट सेक्टर में काफी सुधार लायेगा और संपत्ति की मांग में भी खासा इज़ाफा होने की उम्मीद है | गौरतलब है की आने वाले महीनों में हम भी अपनी 3 परियोजनाओं का पोसेशन देने वाले है | अजनारा डेफोडील, अजनारा ग्रैंड हेरिटेज और होम्स 121 का पोसेशन इस क्षेत्र में काफी परिवारों के आगमन की वजह बनेगी |” यह ध्यान देने योग्य बात है की अजनारा डेफोडील 880 इकाईयों का, अजनारा ग्रैंड हेरिटेज और होम्स 121 1000-1000 इकाईयों का पोसेशन प्रदान करेगा | आने वाले महीनों में और भी परियोजनाएं पोसेशन देने वाली है जैसे गुलशन इकेबाना का फेज-1 जो की सेक्टर-143, नोएडा एक्सप्रेसवे पर मौज़ूद है और जेएम अरोमा जो की सेक्टर-75 नोएडा में है |
बेहतर होने वाला है गाज़ियाबाद:
जिस खबर का 6 सालो से इंतज़ार था वो आखिरकर आ गयी | एनएच-24 के चौड़ीकरण की खबरे तो हमेशा से थी पर जनता के सामने कभी नहीं आई थी | अब जब एनएचएआई (नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ़ इंडिया) ने टेंडर निकाल दिया है तो यह न केवल यहाँ के राहगीर और निवासियों के लिए अच्छी खबर है बल्कि यह एनएच-२४ पर आवासीय अचल संम्पति की मांग को भी बड़ावा देगी | “निजामुद्दीन से डासना के बीच अधिक भीड़भाड़ होने के कारण यहाँ मांग में काफी कमी आई जिससे की निर्माण में भी देरी होने लगी और जिस वजह से ग्राहकों की भावनाओं पर काफ़ी असर हुआ | गाज़ियाबाद के अन्दर आने वाले क्षेत्र जैसे की इन्द्रापुरम, क्रासिंग रिपब्लिक, सिद्धार्थ नगर और अन्य क्षेत्रो पर नकारात्मक प्रभाव पड़ा था | ग्राहक भी इस क्षेत्र को छोड़ दुसरे क्षेत्र में निवेश का मन बनाने लगे थे, जो की यहाँ के बिल्डरों के लिए चिंता का विषय बन गयी थी | इस फैसले के कारण अब गाज़ियाबाद में बड़ा बदलाव देखने को मिलेगा जो की भविष्य में इस क्षेत्र की रूपरेखा बदल देगा | यह कहना है श्री रुपेश गुप्ता, निदेशक जेएम हाउसिंग का | गाज़ियाबाद में काफी सारी परियोजनओं का निर्माण कार्य समापन पर है जो की आने वाले महीनो में पोसेशन देने वाली है | उदाहण के तौर पर अजनारा इंडिया लिमिटेड की राज नगर एक्सटेंशन में स्थित परियोजना अजनारा ग्रैंड हेरिटेज में सेकड़ो इकाईयों का पोसेशन होने वाला है, इसी तरह क्रासिंग रिपब्लिक पर स्थित अजनारा जेन-एक्स में पूरी परियोजना का पोसेशन होना है, हालाँकि इनकी बस कुछ ही इकाईयों का पोसेशन शेष हैं | वीवीआईपी ग्रुप भी अपनी राज नगर एक्सटेंशन में स्थित वीवीआईपी ऐडरेसेस का पोसेशन देने वाला है जिसमें की लगभग 2000 इकाईया हैं | “अपनी पहली परियोजना को पूरा कर के प्रदान करना एक अच्छा और अलग एहसास देगा | वीवीआईपी ऐडरेसेस की माप और सुविधाएं इस परियोजना को एक अलग ही पहचान देगी | पिछले कुछ महीनों में आए सरकार से सकारात्मक फैसलों ने एनसीआर के रियल एस्टेट मार्केट में एक अलग ही माहोल बना दिया है | गाज़ियाबाद और एनसीआर के रियल एस्टेट बाज़ार में लगातार पोसेशन की खबरे अब सामने आने वाली है, जो की भविष्य में मांग को बढाएगी और विकास को आगे ले जाएगी |” यह कहना है श्री प्रवीण त्यागी, सीएमडी, वीवीआईपी ग्रुप का |
एनसीआर के बाकी क्षेत्र ज्यादा पिच्छे नहीं:
जिन्द, कर्नल और मुज़फ्फरनगर का एनसीआर में आने से अब यह गिनती कुल 23 तक पहुँच गयी है | ऊपर के तीनों क्षेत्रों को हटा दे तो अंदाज़न 6500 परियोजनाएं हैं जिसमें की आवासीय, व्यावसायिक और मिश्रित भूमि इस्तेमाल के लिए मौजुद हैं और इनका निर्माण कार्य या तो ख़तम हो चुका है या समापन पर है जो की आने वाले 6 से 9 महीने के अन्दर पोसेशन दे देंगे | इस कारण यह कहना बिलकुल सही होगा की रियल एस्टेट में मानसून का मौसम आने वाला है | “हर ग्राहक अपनी मेहनत से कमी हुई पूंजी को रियल एस्टेट के अन्दर निवेश में लगता है और यह इच्छा रखता है की संपत्ति जल्दी से जल्दी उसे मिल जाये | एनसीआर के संपत्ति बाज़ार में काफी अर्चाने थी जो की अब दूर हो चुकी हैं और अब डेवलपर निर्माण बिना रुकावट के कर सकेंगे और कार्य समय पर भी पूरा हो सकेगा | यह ग्राहकों की भावनाओं पर भी अच्छा असर डालेगा क्योंकि अब उन्हें निर्माण में देरी के कारण अपने सपनोँ के घर में आने के लिए निर्धारित समय ज्यादा इंतज़ार नहीं करना पड़ेगा |” यह कहा श्री कुशाग्र अंसल, निदेशक अंसल हाउसिंग ने | अंसल हाउसिंग पिछली 3 दशकों से रियल एस्टेट बाज़ार में मौज़ूद है | यह कंपनी भी जल्दी अपनी काफी परियोजनाओं का पोसेशन देने वाली है | मेरठ में अंसल टाउन, झांसी में अंसल पाम कोर्ट, यमुना नगर में अंसल टाउन और कर्नल में अंसल टाउन कुछ ऐसी परियोजनाएं है जिनका की पोसेशन कंपनी जल्दी करने वाली है |
उम्मीद की किरण दिखती हुई :
ग्रेटर नोएडा वेस्ट, नोएडा और एनच-24 के फैसलों ने एनसीआर के रियल एस्टेट बाज़ार में एक अलग ही लहर जगा दी है | यह अब इस साल के अंत को बेहतर बनाने में सहायक होगा क्योंकि अभी त्यौहार का दौर अक्टूबर के महीने में नवरात्रो से शुरू होने वाला है | न सिर्फ पोसेशन होंगे बल्कि भविष्य के खरीददार भी बाज़ार में आएंगे | हिन्दू पुराणों के हिसाब से यह बहुत अच्छा समय होता है जिस कारण बिल्डर अच्छी छुट और लाभ प्रदान करते है जिस कारण बिक्री में अच्छा इज़ाफा देखने को मिलता है | “नवरात्री से शुरू होने वाला यह त्यौहार का दौर दिवाली पर ख़तम होता है और इस समय को रियल एस्टेट सेक्टर का सबसे बेहतर महिना माना जाता है | इस बार ग्रेटर नोएडा वेस्ट और नोएडा का सुखा ख़तम हुआ है जिस कारण और बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद की जा सकती है | जिस सुधार और अच्छे वक़्त का इंतज़ार सबको था वो अब आ चुका है और इसका सम्पूर्ण रूप अगले साल तक देखने को मिलेगा |” यह निष्कर्ष दिया श्री विकास भसीन एमडी, साया होम्स ने|

Web Title : Possession Monsoon Fast Approaching In The NCR Realty Sector



Tags:               

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

0 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments


topic of the week



latest from jagran